किरदार!

आमूमन rajiv chowk मेट्रो स्टेशन passengers से खचा-खच भरा रहता है| मंज़िल पे जल्द से जल्द पहुँचने की दौड़ में इस कदर धककेबाज़ी होती है कि मानो दिल्ली शहर की ये आखरी मेट्रो हो| बहराल! एक दोस्त से मिलने के लए आज का दिन मुक्कर्र हुआ था| एक ज़िम्मेदार भारतीय नागरिक की तरह वो लेट था| मैने वहीं platform पर ही उसका इन्तेज़ार करने का तय किया| Seats भरी थी तो वहीं नीचे ज़मीन पर बैठ गयी|

Image Courtesy - Google

Image Courtesy – Google

सामने platform पे मेट्रो रुकती, लोग उतरते, चड़ते, guard उस दरवाज़े को manually बंद करता जो चलने से पहले ऑटोमॅटिक क्लोज़ होता है| उन लोगों को देख के मैं कहीं रावी पार के किरदार ढूँडने लगी तो कहीं पिंजर के पूरो और रशीदा को| कुछ मुझे प्रेमचंद और मंटो की कहानियों के किरदारों से लगे| फिर एहसास हुआ की मैं भी तो एक किरदार हूँ| खुदा की बनाई उस कहानी का जिसे मुक्कम्मल करने के लिए खुदा ने सिर्फ़ मुझे चुना|
हम सब किरदार हैं खुदा की बनाई उन अनगिनत कहानियों का जिन्हे मुक्कम्मल एक अंजाम देने के लए खुदा ने हमे चुना और भेज दिया दुनिया के रंगमंच पर|  जिस तरह कमानी,मेघदूत, श्री राम सेंटर, IHC के ओपन थियेटर मे simultaneously plays चलते रहते हैं| उसी तरह हम सबकी कहानियाँ simultaneously चलती जा रही हैं|  हर वो जगह जहाँ हम जाते हैं एक सेट का सीन है| वो सभी लोग जिन्हे हम अपनी ज़िंदगी मे मिलते हैं, हमारी कहानी के किरदार हैं| कोई तवज्जुह दे ना दे, अपनी कहानी के protagonist  हम खुद ही  तो हैं| फ़र्क सिर्फ़ इतना है कि थियेटर की performances के बाद किरदार अपनी acting की आलोचना याँ प्रशंसा सुन लेते हैं और अगली बार अच्छा प्रदर्शन देते हैं|  मगर खुदा की कहानी मे अगली बार नही आती| कोई रीटेक नही होता| इसलिए अपने हिसाब से जीलो इसे| कल किसने देखा है? वो कहते हैं ना “सुनो सबकी, पर करो अपने मन की”. 🙂

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: